Thursday, 31 July 2014

एक दिन वो पूछेगे एक दिन वो समझ जायेगे .

यादो में चुपके से हमको गुनगुनाएगे ,
एक दिन वो पूछेगे एक दिन वो समझ जायेगे .

प्यार तो बस प्यार हैं ,बेमानी हैं सब तकरीरे ,
तुम हारो ना हारो हम जीत ही जायेगे ..
.
दिल जब घबरायेगा,रंग चेहरे का उड़ जायेगा ,
आह भर कर मेरी तश्वीर से लिपट जायेगे ..

संग दिली में काट तो दो तुम आस की हर डाल को,
उम्मीद के पंछी फिर भी, मगर घोंसला बनायेगे .

सारी गर्मी की छुट्टी जिसने हसाया सुबह शाम ,
लौटते वक्त वही जी भरके रुलायेगे .