Wednesday, 14 May 2014

दिन मै जो बहुत सारे सपने सजाते हैं ,
रात मै वो बेचारे सो भी नही पाते हैं .........